HDFC Home Loan in Hindi |एचडीएफसी होम लोन की पूरी जानकारी हिंदी में|HDFC Home Loan Ki Details Hindi Mein

 

आज हम जानेंगे HDFC Home Loan के बारे में। दोस्तों एचडीएफसी बैंक के होम लोन की खास बात यह है कि जो लोग खेती बाड़ी से जुड़े हुए हैं उनके लिए यह बेस्ट बैंक माना जाता है। क्योंकि काफी सारे बैंक जो लोग खेती से जुड़े हुए हैं उनसे उनकी ITR मांगते है और जो छोटा किसान हैं उसे ITR नाम की चीज भी नहीं पता होती। लेकिन एचडीएफसी बैंक एक ऐसा बैंक है जो फार्मिंग से जुड़े लोगों को यह बोलता है कि आप बस अपनी जमीन दिखा दीजिए। यानी कितनी जमीन आपके नाम पर है। और जितनी आपकी जमीन की कीमत होगी उसी के हिसाब से बैंक आपको होम लोन दे देगा।

आप जब भी आप होम लोन लेने के लिए बैंक जाएंगे तो आपसे सबसे पहला सवाल यही किया जाएगा कि आपको लोन फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट पर चाहिए या फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट पर।

फ़िक्स्ड इंटरेस्ट रेट का मतलब होता है कि अगर आज आपने 7% के ब्याज के हिसाब से होम लोन लिया और कल को बैंक की ब्याज दरें बढ़ जाती है और होम लोन का ब्याज 9% हो जाता है तो आपको जो अपनी किश्त भरनी है वह 7% से ही भरनी है यानी जीतने परसेंट पर आपने लोन लिया था। फिर आपको बढ़े हुए इंटरेस्ट रेट के हिसाब से किश्त नहीं भरनी।

उदाहरण के लिए अगर आप 20 सालों के लिए 7% पर होम लोन लेते हो तो आने वाले 20 सालों में इंटरेस्ट रेट चाहे कम हो चाहे ज्यादा, आपको 7% के हिसाब से ही लोन भरना है।

लेकिन फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट में यह होता है कि अगर आज आपने 7% के हिसाब से लोन लिया और कल को 9% इंटरेस्ट रेट हो जाता है तो आपको अपनी बाकी की बची हुई किस्ते भी 9% के इंटरेस्ट रेट के हिसाब से भरनी होगी।

बात करें फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट की तो इसमें उल्टा भी हो सकता है, यानी अगर कल को इंटरेस्ट रेट कम हो जाते हैं तो आप को कम इंटरेस्ट रेट के हिसाब से लोन भरना है और ज्यादा हो जाते हैं तो आपको ज्यादा के हिसाब से लोन भरना है।

वैसे तो आज की डेट में काफी कम बैंक है जो फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट पर लोन देते हैं। आपको इसके लिए काफी मशक्कत करनी पड़ेगी। देखा जाए तो फ्लोटिंग रेट ऑफ इंटरेस्ट काफी अच्छा है क्योंकि एचडीएफसी बैंक ने अपनी वेबसाइट पर होम लोन के लिए जो 7.55% का इंटरेस्ट रेट लिखा है वह फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट के लिए ही लिखा है अगर आप इसको फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट करवाओगे तो यह इंटरेस्ट रेट एक से डेढ़ परसेंट बढ़ जाएगा।

Table of Contents

HDFC Home Loan लेने के लिए Eligibility क्या है ?

HDFC Home Loan लेने के लिए कम से कम आपकी उम्र 21 साल होनी चाहिए और ज्यादा से ज्यादा 65 साल हो सकती है। 65 साल की उम्र का यह मतलब नहीं है कि आप 65 साल की उम्र में बैंक जा कर 30 साल के लिए एक नए होम लोन के लिए अप्लाई करोगे बल्कि इसका मतलब यह है कि 65 साल की उम्र तक आपका होम लोन पूरा हो जाना चाहिए।

अगर आप 60 साल की उम्र में एक होम लोन लेते हो तो बैंक आपको 30 साल के लिए लोन नहीं देगा बल्कि ज्यादा से ज्यादा 5 साल के लिए ही लोन देगा।

HDFC Home Loan कम से कम आप को 1 साल के लिए तो लेना ही पड़ेगा और ज्यादा से ज्यादा 30 साल के लिए अपना होम लोन ले सकते हैं।

HDFC Home Loan लेने के लिए सैलरी कितनी होनी चाहिए ?

HDFC Home Loan लेने के लिए आपकी सैलरी कम से कम ₹10000 प्रति ,महिना तो होनी चाहिए। और अगर आप सेल्फ एंप्लॉयड हो यानी कि आप अपना खुद का बिजनेस करते हो तो आपकी इनकम 16,000 पर मंथ होनी चाहिए।

HDFC Home Loan in Hindi|एचडीएफसी होम लोन की पूरी जानकारी हिंदी में|HDFC Home Loan Ki Details Hindi Mein
HDFC Home Loan in Hindi|एचडीएफसी होम लोन की पूरी जानकारी हिंदी में|HDFC Home Loan Ki Details Hindi Mein

मुझे ज्यादा से ज्यादा कितने रुपए तक का होम लोन मिल सकता है ?

जितनी भी आपकी इनकम है यानी की जितनी भी आपकी सैलरी है उसका 60 गुना तक आप HDFC Home Loan ले सकते हो। जैसे कि अगर किसी व्यक्ति की ₹10,000 महीना तंखा है तो उसका 60 गुना यानी कि ₹6,00,000 तक का HDFC Home Loan ले सकता है।

LTV (Loan To Value) क्या होता है ?

इस केस में एचडीएफसी बैंक यह बोलता है कि जो भी आप घर खरीद रहे हो अगर उसकी कीमत ₹30 लाख से कम है और उसकी जितनी भी वैल्यू है तो उसका 90% तक का लोन हम आपको दे देंगे। यानी अगर आपके घर की वैल्यू 28 लाख है तो आपको ₹25,20,000 का लोन मिल जाएगा और बचे हुए 10 परसेंट की आपको डाउन पेमेंट करनी पड़ेगी।

अगर आपके घर की वैल्यू ₹30 लाख से लेकर ₹75 लाख के बीच में है तो इस केस में एचडीएफसी बैंक आपको घर की वैल्यू का 80% लोन देगा और 20 परसेंट आपको डाउन पेमेंट करनी होगी। जैसे अगर आपकी घर की वैल्यू ₹60 लाख है तो 48 लाख रुपए का आपको बैंक लोन दे देगा और बाकी बचे हुए 12 लाख कि आपको डाउन पेमेंट करनी होगी।

और अगर आपके घर की वैल्यू ₹75 लाख से ज्यादा है तो इस केस में बैंक 75% तक आपको लोन दे देगा और बाकी 25% कि आपको डाउन पेमेंट करनी होगी। जैसे अगर आपकी घर की वैल्यू एक करोड़ है तो ₹75 लाख का आपको लोन मिल जाएगा और 25 लाख रुपए की आपको डाउन पेमेंट करनी होगी।

ALSO READ  SBI Personal Loan in Hindi | SBI Personal Loan के लिए कैसे अप्लाई करें ?

इन सबके अलावा लोन लेने का सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि आपको इनकम टैक्स में रिबेट मिल जाती है। जैसे इनकम टैक्स के सेक्शन 80c के अंदर डेढ़ लाख रुपए तक आप टैक्स रिबेट ले सकते हो अपनी प्रिंसिपल पेमेंट पर।

इन सबके अलावा सेक्शन 24 यह बोलता है आप ₹2,00,000 की एडिशनल टैक्स रिबेट ले सकते हो अपनी इंटरेस्ट के पेमेंट पर।

और अगर आप फर्स्ट टाइम होम बायर हो यानी आप पहली बार होम खरीद रहे हो तो इनकम टैक्स के सेक्शन 80e के तहत आप एक्स्ट्रा टैक्स बेनिफिट भी ले सकते हो। यानी काफी सारे बेनिफिट है अगर आप होम लोन लेते हो।

 

एचडीएफसी बैंक मैक्सिमम कितना होम लोन देता है ?

एचडीएफसी ऑफर करता है कम से कम ₹1 लाख का लोन यानी कि अगर आप HDFC Home Loan लेना चाहते हो तो कम से कम आपको ₹1 लाख का लोन लेना होगा और ज्यादा से ज्यादा बैंक ₹10 करोड़ तक का लोन ऑफर करता है।

HDFC Home Loan प्रोसेसिंग फीस कितनी है ?

जब आप किसी भी बैंक में लोन लेने जाते हैं तो आपको एक प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ती है जिसे हम फाइल चार्ज भी बोलते हैं। एचडीएफसी अपने होम लोन पर 0.50% प्रोसेसिंग फीस चार्ज करता है। आप जितने का भी लोन लेंगे उसका 0.50% आपको प्रोसेसिंग फीस देनी होगी। इसमें आपको घबराना नहीं है क्योंकि यह फीस ज्यादा से ज्यादा 3000 हो सकती है उससे ज्यादा नहीं होगी। जैसे अगर आप सोच रहे है की अगर आप 1 करोड़ रुपए का लोन लेंगे तो आपको उसका 0.50% यानी की ₹50,000 प्रोसेसिंग फीस देनी होगी, तो यहां पर ऐसा बिल्कुल नहीं है। इस केस में ₹3000 ही प्रोसेसिंग फीस देनी होगी।

EMI लेट होने पर पेनल्टी कितनी लगेगी ?

यहां पर काफी लोगों का सवाल आता है कि अगर वह एक-दो महीने EMI भरने में लेट हो जाते हैं तो उनको कितनी पेनल्टी देनी होगी। इसमें जितनी भी आप की किस्त है उस पर 18% पर एनम के हिसाब से पेनल्टी लगेगी। जैसे अगर आप की किस्त ₹10,000 की है तो 10,000 का 18% पर एनम के हिसाब से पेनल्टी लगेगी। यानी मंथली डेढ़ परसेंट की पेनल्टी आप पर लगेगी। तो अगर आपकी ₹10,000 महीने की किस्त है तो आपको ₹10,000 के ऊपर डेढ़ परसेंट की पेनल्टी देनी होगी जो की होती है 150 रुपए मंथली।

क्या HDFC Home Loan जल्दी क्लोज करवा सकते हैं ?

दोस्तों कुछ लोगों का सवाल होता है कि मान लो उन्होंने 20 सालों के लिए होम लोन लिया और बीच में ही उनके पास कहीं से बहुत सारा पैसा आ गया तो क्या वह इस होम लोन को जल्दी बंद करवा सकते हैं ? तो यहां पर एचडीएफसी बैंक यह बोलता है कि अगर आपने इंडिविजुअल लोन लिया है यानी कि अपने खुद के नाम से लोन लिया है तो इस केस में आप चाहे 2 महीने बाद ही होम लोन क्लोज करवा सकते हो आपको कोई पेनल्टी नहीं देनी होगी।

ALSO READ  Bank Of Baroda Home Loan Full Information in Hindi |बैंक ऑफ़ बड़ौदा होम लोन के बारे में पूरी जानकारी

लेकिन आपने होम लोन अगर किसी एनजीओ, किसी ट्रस्ट, या किसी कंपनी के नाम पर लिया है तो यह लोग लोन क्लोज नहीं करवा सकते। अगर यह लोग लोन क्लोज करवाएंगे तो इन्हें 2% की पेनल्टी देनी होगी।

HDFC Home Loan के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट लगेंगे ?

अगर आप सैलरीड क्लास हो यानी आप कहीं जॉब करते हो तो आपको-

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • एप्लीकेशन फॉर्म
  • 6 महीने की बैंक स्टेटमेंट
  • लेटेस्ट सैलरी स्लिप
  • Form16

यह सारी चीजें देनी होगी।

और अगर आप सेल्फ एंप्लॉयड यानी बिजनेस मैन हो तो सभी चीजें सेम देनी होगी जो सैलरीड क्लास को देनी है बस आपको एक्स्ट्रा 3 साल की आईटीआर और 3 साल की प्रॉफिट एंड लॉस की बैलेंस शीट देनी होगी।

और अगर आप फार्मिंग यानी खेती से जुड़े हुए हो तो इस केस में आप को यही दिखाना होगा कि आप के नाम पर कितनी जमीन है। इसी के ऊपर निर्भर करते हुए एचडीएफसी बैंक आपको होम लोन दे देगा। HDFC Home Loan की सबसे अच्छी बात यह है कि किसान से ये किसी भी प्रकार का इनकम प्रूफ नहीं मांगता। लेकिन अगर दूसरे बैंकों की बात करें तो वह किसान से भी 2 साल की है 3 साल की आईटीआर मांगते हैं।

आपको एक बात ध्यान रखनी है कि अगर आप गांव में रहते हो तो आप एग्रीकल्चर एरिया पर जमीन नहीं ले सकते। यानी आप एग्रीकल्चर जमीन पर अपना घर नहीं बना सकते। आपको गांव के रेजिडेंशियल एरिया में ही घर लेना पड़ेगा तभी आपको एचडीएफसी बैंक होम लोन देगा।

दूसरी ध्यान रखने वाली बात यह है कि आप जो भी जमीन बैंक को दिखा रहे हो इसका मतलब यह नहीं है कि यह जमीन बैंक को गिरवी देनी होगी या बैंक के पास गिरवी रखनी पड़ेगी आपका जो घर है वही बैंक के पास गिरवी रखा जाएगा।

बैलेंस ऑफ ट्रांसफर क्या होता है ?

जैसे मान लो अगर आपका होम लोन किसी दूसरे बैंक में चल रहा है। मान लेते हैं कि आपका होम लोन SBI बैंक में चल रहा है और आप उस होम लोन को एचडीएफसी बैंक में ट्रांसफर करवाना चाहते हो। तो जब आप एक बैंक से दूसरे बैंक में होम लोन ट्रांसफर करते हो तो उसे हम बोलते हैं बैलेंस ऑफ ट्रांसफर।

होम लोन टॉप अप क्या होता है ?

होम लोन टॉप अप का मतलब होता है जैसे मान लीजिए आप ने बैंक से घर बनवाने के लिए 50 लाख का लोन लिया और यह 50 लाख रुपए कम पड़ जाते हैं या खत्म हो जाते हैं और आपका घर का कंस्ट्रक्शन पेंडिंग पड़ा है लेकिन आपको और पैसों की जरूरत है। तो आप इस केस में और लोन भी ले सकते हो। यानी जब हम लोन के ऊपर लोन लेते हैं तो उसे हम उसे लोन टॉप अप बोलते हैं।

यह सारी चीजें जब आप होम लोन लेने जाओगे तब आपको बहुत काम आएगी। उम्मीद करता हूं आपको सब समझ आ गया होगा अगर आपको फिर भी कुछ पूछना है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं मैं आपके कमेंट का रिप्लाई जरूर दूंगा।

बैंक ऑफ़ बरोदा के होम लोन की जानकारी के लिए यहां दबाएँ

Leave a Comment

Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा की वजह से भारत को पहली बार मिले ये पदक, जापान से लेकर अमेरिका तक किया कमाल इन 6 आदत वालों को कभी परेशान नहीं करते हैं शनि देव कहीं बर्बादी की दिशा में तो नहीं खुलता आपके घर का दरवाजा? जानें क्या कहता है वास्तु शास्त्र Chanakya Niti: इन 4 जगहों पर पैसा खर्च करने में कभी नहीं करनी चाहिए कंजूसी सोमवार को इस एक गलती से नाराज हो सकते हैं भगवान शिव, जानें प्रसन्न करने का उपाय