गोल्ड बॉन्ड क्या होता है ? Gold Bond Kya Hota Hai ?

दोस्तो Gold Bond आरबीआई द्वारा इशू किया गया एक पेपर होता है जिसकी वैल्यू नॉर्मल गोल्ड के बराबर होती है और आपको इस पर कोई टैक्स भी नहीं देना पड़ता साथ ही में आपको इसपर हर साल आपके खरीदे हुए गोल्ड पर 2.5% का रिटर्न यानि ब्याज भी मिलता है ।

आज के समय में गोल्ड को सबसे सेफ इनवेस्टमेंट माना जाता है। हर कोई जानता है की गोल्ड में लगाया हुआ पैसा हमेशा अच्छा रिटर्न देता है और इसको बेच कर हम कभी भी पैसो की जरूरत पूरी कर सकते है।

पर क्या गोल्ड आपको हर साल 2.5% का व्याज दे सकता है ? क्या गोल्ड टैक्स फ्री होता है ?

नहीं न, तो इसी कारण सरकार आपके लिए लाती है Gold Bond जानते है नॉर्मल गोल्ड और Gold Bond में फरक –

नॉर्मल गोल्ड Gold Bond
नॉर्मल गोल्ड में मेकिंग चार्ज लगता है। Gold Bond में कोई मेकिंग चार्ज नहीं देना होता।
नॉर्मल गोल्ड में सेफ़्टी की दिक्कत हमेशा बनी रहती है। Gold Bond ऑनलाइन होता है इसलिए इसमे सेफ़्टी जैसी कोई समस्या नहीं है।
नॉर्मल गोल्ड में कहीं न कहीं प्योरिटी की दिक्कत रहती है। Gold Bond 24 कैरट का होता है और ऑनलाइन सरकार द्वारा दिया जाता है।
नॉर्मल गोल्ड पुराना होने के बाद फीका पड़ जाता है और हमे फिर से उसको पोलिश करवानी पड़ती है। Gold Bond में पोलिश का कोई झंझट ही नही होता।
नॉर्मल गोल्ड का डिज़ाइन कुछ समय बाद ओल्ड फ़ैशन हो जाता है और उसको अपडेट करवाने के लिए हमे मोटा खर्चा करना पड़ता है। Gold Bond में ऐसी कोई चीज़ हे नहीं होती ये हमेशा बॉन्ड के फॉर्म में आपके पास रेहता है।

Gold Bond के फायदे – Advantages Of Gold Bond

Full Safety – क्यूंकी इसको RBI इशू करता है और ये कभी चोरी भी नहीं हो सकता ।

•2.5% interest हर साल मिलेगा जो सिम्पल इंटरेस्ट होगा और आपने शुरू में जितने पैसा लगाए थे उस पर मिलेगा । ये ब्याज आपको हर साल तब तक मिलता रहेगा जब तक आप इसको होल्ड करके रखोगे ।

NO GST – कोई GST नहीं देना होगा, नॉर्मल गोल्ड में आपको GST देना पड़ता है लेकिन Gold Bond में आपको कोई GST नहीं देना होता ।

No Tax – आप जब भी इसको बेचोगे आपको इसपर कोई Tax नहीं देना होगा, चाहे 5 साल बाद बेचो, 8 साल या 11 साल बाद। ये बिलकुल टैक्स फ्री होता है।

•अगर आप इसे लेना चाहते है तो आप बैंक या पोस्ट ऑफिस में जा कर अप्लाई कर सकते हो या ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हो ।

•अगर आप Online अप्लाई करते हो तो आपको 50/ग्राम का डिस्काउंट मिलेगा । तो अगर आपने 50 ग्राम खरीदा तो आपको 2,500 रुपए का डिस्काउंट मिल जाएगा ।

•अगर आप इसको खरीदते समय फॉर्म में अपने डिमेट अकाउंट की ID लिख दोगे तो ये आपकी होल्डिंग्स में दिखने लग जाएगा, यानि की आपके Demat अकाउंट में शो होने लग जाएगा जैसे नॉर्मल Shares दिखते है, उस से होगा यह की आप इसको 5 साल से पहले भी बेच सकते हो जैसे Shares को बेचा और खरीदा जाता है । 

ALSO READ  Navi Health Insurance Full Details in Hindi | Navi Health Insurance Ki Poori Jaankari Hindi Mein

•RBI आपसे यह बॉन्ड 5 साल, 8 साल या 11 साल बाद खरीद लेगी चाहे उस समय गोल्ड का Rate कुछ भी हो। इसलिए आप इसको DEMAT फॉर्म में जरूर रखे जिस से आप इसको कभी भी बेच सके जब गोल्ड के प्राइस हाइ हो।

•Gold Bond को गिरवी रख कर हम लोन भी ले सकते है बैंक में बात करके।

•इसमे Joint Holding का ऑप्शन भी है, मतलब हम किसी के साथ मिल कर भी इसको खरीद सकते है ।

•इसमे हम नॉमिनी भी Add कर सकते है जो नॉर्मल गोल्ड में नही करवा सकते ।

Gold Bond का रेट कैसे तय होता है ? Gold Bond Ka Rate Kaise Decide Hota Hai ?

Gold Bond का रेट अगर आप खरीद रहे तो तो लास्ट के 3 दिन का जो भी रेट है उसको 3 से भाग कर देने पर जो भी आन्सर आयेगा वो रेट होता। उसी तरीके से जब आप इसको बेचोगे तब 3 दिन पहले जो भी रेट चल रहा होगा उसको भी 3 से भाग कर देंगे और जो भी आन्सर आयेगा उसी रेट पर बिकेगा।

गोल्ड बॉन्ड का रेट कैसे तय होता है ? Gold Bond Ka Rate Kaise Decide Hota Hai ?
गोल्ड बॉन्ड का रेट कैसे तय होता है ? Gold Bond Ka Rate Kaise Decide Hota Hai ?

अब ऊपर आप देख सकते है गोल्ड बॉन्ड लेते समय हमने लास्ट के 3 दिन दिन गोल्ड का प्राइस लीआ और उसको 3 से भाग कर दिया और जो भी रेट निकल कर आया उस रेट पर हमे गोल्ड बॉन्ड मिल जाएगा ।

उसी तरीके से बेचते समय भी लास्ट के 3 दिन का रेट लिया और उसको 3 से भाग करके जो भी उत्तर आया उस पर हम इसको बेच पाएंगे ।

ALSO READ  बैंक में कितना पैसा सुरक्षित है ? | How much money is safe in bank in India ?

टोटल 8 साल बाद जब हमने इसको बेचा तो हमे टोटल 90,566 का प्रॉफ़िट हुआ जिसमे 80,300 का गोल्ड का बढ़ा हुआ रेट है और 10,266 इंटरेस्ट है जो हमे 2.5% से 8 सालो तक हर साल मिला ।

 GOLD BOND
GOLD BOND

गोल्ड बॉन्ड पर टैक्स कितना लगता है ? GOLD BOND Par Tax Kitna Lagta Hai ?

•अगर आप इसको 8 साल बाद बेचोगे तो ये टैक्स फ्री रहेगा।

•अगर 5 साल बाद बेचोगे तो भी टैक्स फ्री रहेगा।

•अगर 11 साल बाद बेचोगे तो भी टैक्स फ्री रहेगा ।

•लेकिन अगर आप Demat Account के माध्यम से बेचोगे तो उस पर टैक्स लगेगा जैसे शेर खरीदने और बेचने पर लगता है।

•गोल्ड बॉन्ड 1 इंसान (1 ग्राम – 4 किलो) तक हर साल खरीद सकता है । यानि की आप हर साल 4 किलो तक का गोल्ड खरीद सकते हो ।

गोल्ड बॉन्ड कैसे खरीदें ? GOLD BOND Kaise Khareedein ? 

•दोस्तो गोल्ड बॉन्ड साल में 4 बार निकलते है । 2022-23 में भी यह 4 बार निकलेंगे जिनमे 2 बार की डेट है –

•20 जून – 24 जून, जिसमे 28 जून को इशू होगा

•22 अगस्त – 26 अगस्त, जिसमे 30 अगस्त का इशू होगा

अगर आप इसको ऑनलाइन अप्लाई करेंगे तो बेहतर होगा क्यूंकी उसमे आपको डिस्काउंट भी मिलेगा और आपको कहीं जाना भी नहीं पड़ेगा ।

अधिक जानकारी के लिए आप विडियो भी देख सकते है –

https://youtu.be/8TJgNYB9EWE

 

 

अगर आप एलआईसी की स्कीम के बारे में जानना चाहते हैं तो आप यहां क्लिक कर सकते हैं

1 thought on “गोल्ड बॉन्ड क्या होता है ? Gold Bond Kya Hota Hai ?”

Leave a Comment

Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा की वजह से भारत को पहली बार मिले ये पदक, जापान से लेकर अमेरिका तक किया कमाल इन 6 आदत वालों को कभी परेशान नहीं करते हैं शनि देव कहीं बर्बादी की दिशा में तो नहीं खुलता आपके घर का दरवाजा? जानें क्या कहता है वास्तु शास्त्र Chanakya Niti: इन 4 जगहों पर पैसा खर्च करने में कभी नहीं करनी चाहिए कंजूसी सोमवार को इस एक गलती से नाराज हो सकते हैं भगवान शिव, जानें प्रसन्न करने का उपाय