LIC Riders in Hindi | What is Riders in LIC | Uses Of LIC Riders|Types Of LIC Riders |LIC Riders Explained in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम चर्चा करने वाले हैं LIC Riders के बारे में।

एक बीमा राइडर क्या है ?

LIC Riders का मतलब बेसिक इंश्योरेंस पॉलिसी के अलावा इंश्योरेंस पॉलिसी में कुछ एक्स्ट्रा प्रीमियम देकर एक्स्ट्रा बेनिफिट ऐड करवाना होता है।

LIC Riders बीमा धारक कब ले सकता है ?

पहला तो पॉलिसी लेते समय ही बीमा धारक राइडर को अपनी पॉलिसी में जुड़वा सकता है। और अगर उसने पॉलिसी लेते समय राइडर का चुनाव नहीं किया है तो वह कभी भी पॉलिसी के बीच में भी जुड़वा सकता है। लेकिन इसके लिए शर्त यह है कि आपकी पॉलिसी के 5 साल का प्रीमियम बाकी होना चाहिए।

उदाहरण के लिए अगर किसी बीमा धारक ने 30 साल की पॉलिसी ली है और उसका प्रीमियम पेमेंट टर्म 25 साल और इन्होंने पॉलिसी लेते समय एक्सीडेंटल डेथ एंड डिसेबिलिटी राइडर को नहीं लिया इस कंडीशन में इस राइडर को 5 साल का प्रीमियम टर्म रहने तक खरीद सकते हैं। अर्थात पॉलिसी के स्टार्ट होने से पॉलिसी के 20 वर्ष होने तक इस LIC Rider को खरीद सकते हैं।

1) LIC Accidental Death & Disability Rider in Hindi

Death Benefit – इस बेनिफिट को लेने के बाद अगर बीमा धारक की एक्सीडेंट की वजह से मृत्यु हो जाती है तो डेथ एंड डिसेबिलिटी राइडर का जो sum assured है वह मिलेगा।

Policy Benefit + Rider Sum Assured

Disability Benefit – इस बेनिफिट के अंतर्गत अगर पॉलिसी होल्डर की एक्सीडेंट की वजह से कोई डिसेबिलिटी होती है तो उसको हर महीने पेंशन मिलती रहेगी। पेंशन की शर्त बस इतनी है कि वह डिसेबिलिटी एक्सीडेंट होने के 180 दिन के अंदर होनी चाहिए।

इस राइडर का दूसरा बेनिफिट यह है कि पॉलिसी होल्डर का आगे का सारा प्रीमियम भी माफ हो जाता है।

इस राइडर का कवर बीमा धारक के 70 वर्ष पूरे होने या पॉलिसी पूरे होने तक ही मिलेगा। दोनों में से जो भी सीट पहले हो जाएगी राइडर का कवर भी खत्म हो जाएगा।

अगर आप की पॉलिसी आपको 100 साल तक का कवरेज देती है तो भी इस राइडर का बेनिफिट 70 वर्ष पूरे होने पर या पॉलिसी पीरियड पहले खत्म होने पर ही खत्म हो जाएगा।

2) LIC New Term Assurance Rider in Hindi – एलआईसी न्यू टर्म एशुरेंस राइडर

पहले बात करते हैं की बीमा द्वारा किसको कब ले सकता है ?

बीमा धारक को यह राइडर पॉलिसी लेते समय ही जुड़वाना होगा वह इस राइडर को पॉलिसी लेने के बाद नहीं जुड़वा सकता। इस राइटर का फायदा केवल पॉलिसी पीरियड के दौरान पॉलिसी होल्डर की मृत्यु होने पर ही मिलता है।

ALSO READ  LIC Jeevan Akshay 857 Details in Hindi | एलआईसी जीवन अक्षय 857 की जानकारी हिंदी में

उदाहरण के लिए अगर बीमा धारक ने 15 लाख की पॉलिसी ली है और यह वाला बेनिफिट भी 15 लाख के sum assured का लिया है, तो पॉलिसी पीरियड के दौरान उसकी मृत्यु होने पर उनके परिवार को 30 लाख प्लस बोनस मिल जाएगा।

इस राइडर का कवर बीमा धारक के 75 वर्ष पूरे होने या पॉलिसी पूरे होने तक ही मिलेगा। दोनों में से जो भी सीट पहले हो जाएगी राइडर का कवर भी खत्म हो जाएगा।

अगर आप की पॉलिसी आपको 100 साल तक का कवरेज देती है तो भी इस राइडर का बेनिफिट 75 वर्ष पूरे होने पर या पॉलिसी पीरियड पहले खत्म होने पर ही खत्म हो जाएगा।

Entry Age – इस राइडर को लेने के लिए आपकी कम से कम उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए और जागरण ज्यादा 60 वर्ष।

Maturity Age – इस राइडर में मैच्योरिटी की जो अधिकतम आयु है वह है 75 वर्ष।

Rider Term – LIC New Term Assurance Rider आप कम से कम 5 साल के लिए ले सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा 35 साल के लिए ले सकते हैं।

Sum Assured – अगर आप इस राइडर को लेना चाहते हैं तो इसमें कम से कम ₹100000 का Sum Assured लेना होगा और ज्यादा से ज्यादा आप इसमें 25 लाख रुपए तक का Sum Assured ले सकते हैं।

3) LIC Critical illness Rider in Hindi – एलआईसी क्रिटिकल इलनेस राइडर

सबसे पहले बात करते हैं बीमा धारक इस राइडर को कब ले सकता है?

बीमा धारक इस राइडर को केवल पॉलिसी लेते समय ही ले सकता है अगर उस समय उसने इस राइडर को नहीं लिया तो वह इसको बाद में नहीं जुड़वा सकता। इस राइडर का लेने का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि इसमें 15 बीमारियां कवर है।

तो आइये देखते है इस राइडर में कौन-कौन सी 15 बीमारियाँ कवर है –

  1. Cancer Of Specific Severity
  2. Open Chest CABG
  3. First Heart Attack of Specific Severity
  4. Kidney Failure
  5. Major Organ / Bone Marrow Transplant (As Recipient)
  6. Stroke Resulting In Permanent Symptoms
  7. Permanent Paralysis Of Limbs
  8. Multiple Sclerosis With Persisting Symptoms
  9. Aortic Surgery
  10. Primary (Idiopathic) Pulmonary Hypertension
  11. Alzheimer’s Diseases/Dementia
  12. Blindness
  13. Third Degree Burns
  14. Open Heart Replacement Or Repair Of Heart Valves
  15. Benign Brain Tumor

इन 15 बीमारी में से किसी भी बीमारी का जब पहली बार पता लगता है तो एलआईसी आपने जितने का भी sum assured लिया था उसने रुपए तक का भुगतान आपको कर देती है। और उसके बाद आप इस राइडर का लाभ नहीं उठा सकते।

क्रिटिकल इलनेस राइडर को कौन कौन ले सकता है ?

Entry Age – इस राइडर को लेने के लिए आपकी कम से कम उम्र 18 वर्ष होनी चाहिए और जागरण ज्यादा 65 वर्ष।

Maturity Age – इस राइडर में मैच्योरिटी की जो अधिकतम आयु है वह है 75 वर्ष।

Rider Term – LIC New Term Assurance Rider आप कम से कम 5 साल के लिए ले सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा 35 साल के लिए ले सकते हैं।

ALSO READ  LIC Jeevan Labh 936 Plan Details in Hindi |LIC जीवन लाभ 936 प्लान सम्पूर्ण जानकारी

Sum Assured – अगर आप इस राइडर को लेना चाहते हैं तो इसमें कम से कम ₹100000 का Sum Assured लेना होगा और ज्यादा से ज्यादा आप इसमें 25 लाख रुपए तक का Sum Assured ले सकते हैं।

Waiting Period – राइडर तो लेने के 90 दिन बाद ही आप इन बीमारियों का कवर ले सकते हैं अगर उससे पहले इन बीमारियों के लक्षण उजागर हो जाते हैं तो आपको कोई बेनिफिट नहीं मिलेगा। एक्सीडेंट के केस में कोई वेटिंग पीरियड नहीं है।

Survival Period – इस बेनिफिट का लाभ तभी मिलेगा जब बीमा धारक इन 15 बीमारी में से किसी एक का पता लगने के बाद 30 दिनों तक जिंदा रहता है। अर्थात जिस बीमारी का पता चला उस दिन से 30 दिनों तक। यदि बीमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसको इस बेनिफिट का लाभ नहीं मिलेगा।

Key Exclusion – मतलब यह है राइडर किन-किन चीजों को कवर नहीं करता ? यदि यह बीमारियां युद्ध, दंगे, आत्महत्या की कोशिश के कारण, किसी क्रिमिनल एक्टिविटी के कारण, नागरिक अशांति के कारण, रेडियोएक्टिव पदार्थ के संपर्क में आने के कारण, HIV या AIDS, नशीले पदार्थों के कारण, यह साबित होना कि डॉक्टर की सलाह ना मानने के कारण यह बीमारी हुई है या ऐसी कोई बीमारी जिसका इलाज पिछले 4 वर्षों से चल रहा हो तो यह पॉलिसी उसे कवर नहीं करती।

LIC Riders in Hindi|What is Riders in LIC |Uses Of LIC Riders|Types Of LIC Riders|LIC Riders Explained in Hindi
LIC Riders in Hindi|What is Riders in LIC |Uses Of LIC Riders|Types Of LIC Riders|LIC Riders Explained in Hindi

4) LIC Accident Benefit Rider in Hindi – एलआईसी एक्सीडेंट बेनिफिट राइडर

सबसे पहले बात करते हैं बीमा धारक इस राइडर को कब ले सकता है ?

इस राइडर को बीमा धारक पॉलिसी लेते समय ले सकता है। और अगर बीमा धारक ने पॉलिसी लेते समय यह राइडर नहीं लिया तो मैं उसको बाद में भी जुड़वा सकता है। लेकिन बाद में जुड़वाने के लिए बस एक शर्त है कि 5 साल का प्रीमियम बाकी होना चाहिए।

उदाहरण के लिए अगर आपके 30 साल की पॉलिसी है और आपको 15 साल तक प्रीमियम भरना है तो इस राइडर को आप केवल दसवें साल तक ही जुड़वा सकते हैं क्योंकि इसमें 5 साल का प्रीमियम बाकी रहना चाहिए।

अब बात करते हैं इसके बेनिफिट के बारे में –

इस बेनिफिट का फायदा केवल एक्सीडेंट की वजह से हुई मृत्यु होने पर मिलता है। मृत्यु होने पर आपकी कराए हुई पॉलिसी का डेट अमाउंट तो मिलेगा ही साथ में इस बेनिफिट का सम एश्योर्ड भी मिलेगा।

उदाहरण के लिए अगर बीमा धारक ने 10 लाख की पॉलिसी ली है और 10 लाख के sum assured का राइडर भी लिया है तो बीमा धारक के परिवार को ₹20 लाख प्लस बोनस मिलेंगे।

इस राइडर का कवर बीमा धारक के 70 वर्ष पूरे होने या पॉलिसी पूरे होने तक ही मिलेगा। दोनों में से जो भी सीट पहले हो जाएगी राइडर का कवर भी खत्म हो जाएगा।

अगर आप की पॉलिसी आपको 100 साल तक का कवरेज देती है तो भी इस राइडर का बेनिफिट 70 वर्ष पूरे होने पर या पॉलिसी पीरियड पहले खत्म होने पर ही खत्म हो जाएगा।

ALSO READ  LIC Dhan Sanchay 865 Plan in Hindi | LIC ने निकाला धमाकेदार प्लान - LIC धन संचय प्लान 865

अगर बात करें इस राइडर में बीमित राशि यानी सम एश्योर्ड की तो वह आप अधिक से अधिक अपनी बेस पॉलिसी जितना sum assured ले सकते हो।

5) LIC Premium Waiver Benefit in Hindi – एलआईसी प्रीमियम वेवर बेनिफिट

दोस्तों यह बेनिफिट ज्यादातर जब लिया जाता है जब आप पॉलिसी अपने बच्चों के लिए ले रहे हो। इस बेनिफिट में होता क्या है कि अगर कोई पिता अपने बच्चे की पॉलिसी करवा रहे है और उन्होंने इस बेनिफिट को पॉलिसी में जुड़वाया है और कल को अगर वह नहीं रहते तो उनके परिवार को बच्चे की पॉलिसी का प्रीमियम भरने की जरूरत नहीं है। सारे प्रीमियम एलआईसी खुद ही भरेगी और पॉलिसी के सारे बेनिफिट्स भी परिवार को मिलते रहेंगे साथ में मेचूरिटि भी मिलेगी।

लेकिन इसमें ध्यान रखने वाली बात यह है कि एलआईसी प्रीमियम केबल तब तक भरेगी जब तक बच्चा 18 साल का नहीं हो जाता उसके बाद परिवार को या फिर बच्चे को खुद ही प्रीमियम भरना होगा।

उदाहरण के लिए अगर किसी ने अपने 1 साल के बच्चे के लिए यह पॉलिसी 25 साल के लिए ली है तो एलआईसी केवल बच्चे के 18 साल होने तक ही प्रीमियम भरेगी बाकी के 7 साल परिवार को ही प्रीमियम भरना है।

प्रीमियम वेबर बेनिफिट में बच्चे के अभिभावक यानी की माता या पिता की ज्यादा से ज्यादा उम्र 55 वर्ष ही हो सकती है अगर उनकी उम्र 55 वर्ष से अधिक है तो वह इस बेनिफिट को नहीं ले सकते।

यह बेनिफिट एलआईसी की सभी पॉलिसी के लिए उपलब्ध नहीं है इसलिए पॉलिसी लेने से पहले आप सारी बातें जांच लें।

अगर आप LIC की और भी जानकारी चाहते है तो यह VIDEOS देख सकते है-

LIC के अन्य प्लान्स भी देखे –

LIC Bima Jyoti Plan 860 Details in Hindi |LIC बीमा ज्योति प्लान 860 की हिंदी में जानकारी

LIC jeevan Lakshya Plan 933 Details in Hindi |LIC जीवन लक्ष्य प्लान 933 पूरी जानकारी

LIC Jeevan Umang Plan 945 Details in Hindi|LIC जीवन उमंग प्लान 945 की हिंदी में जानकारी

LIC Dhan Rekha Plan 863 Details in Hindi| एलआईसी धन रेखा प्लान 863 की हिंदी में जानकारी

LIC Single Premium Endowment Plan 917 | एलआईसी सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्लान 917

LIC Micro Bachat Plan 951 Details in Hindi|LIC माइक्रो बचता प्लान 951 की जानकारी हिंदी में।

LIC Bima Shree Plan 948 Details in Hindi|LIC बीमा श्री प्लान 948 की हिंदी में जानकारी

LIC New Jeevan Shanti Plan 858 Details in Hindi|LIC न्यू जीवन शान्ति प्लान 858 की हिंदी में जानकारी

LIC Jeevan Tarun Plan 934 Details in Hindi|LIC जीवन तरुण प्लान 934 की हिंदी में जानकारी

LIC Aadhar Shila Plan 944 Details in Hindi |LIC आधार शिला प्लान 944 की हिंदी में जानकारी

LIC Jeevan Labh Plan 936 Details in Hindi |LIC जीवन लाभ प्लान 936 सम्पूर्ण जानकारी

LIC राइडर्स क्या होता है | What is Riders in LIC | Uses Of LIC Riders | Types Of LIC Riders

1 thought on “LIC Riders in Hindi | What is Riders in LIC | Uses Of LIC Riders|Types Of LIC Riders |LIC Riders Explained in Hindi”

Leave a Comment

Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा की वजह से भारत को पहली बार मिले ये पदक, जापान से लेकर अमेरिका तक किया कमाल इन 6 आदत वालों को कभी परेशान नहीं करते हैं शनि देव कहीं बर्बादी की दिशा में तो नहीं खुलता आपके घर का दरवाजा? जानें क्या कहता है वास्तु शास्त्र Chanakya Niti: इन 4 जगहों पर पैसा खर्च करने में कभी नहीं करनी चाहिए कंजूसी सोमवार को इस एक गलती से नाराज हो सकते हैं भगवान शिव, जानें प्रसन्न करने का उपाय